बवासीर का घरेलु और देसी इलाज हिंदी में

बवासीर का घरेलु और देसी इलाज हिंदी में

नमस्ते दोस्तों में इस पोस्ट में बताने जा रहा हु की कैसे हम घरेलु नुस्खों और इलाज से निरोगी काया पा सकते हे | साथ ही अपनी और अपनों के अचे सुवास्थ्ये के लिए घरेलु उपाए कर सकते  हे | आज के पोस्ट में में आपको बताऊंगा की कैसे हम बवासीर जैसी बुरी व्याधि को समाप्त कर सकते हे | देसी इलाज से बवासीर का घरेलु और देसी इलाज हिंदी में

बवासीर का घरेलु और देसी इलाज हिंदी में

 बवासीर के लक्षण और प्रकार

बवासीर का घरेलु और देसी इलाज हिंदी में – बवासीर दो प्रकार की होती हे – अंदर की और बाहर की | अंदर की बवासीर में मस्से अंदर को होते हे | जबकि बाहर की बवासीर में मस्से बाहर की और होते हे | गोल चपटे उभरे हुए मस्से चने – मसूर के दाने जितने बड़े होते हे शौच करते समय या कहे तो मल त्याग करते समय जोर लगाने पर कभी कभी अंदर का  मास्सा बाहर आ जाता हे जिससे मरीज को बहुत पीड़ा होती हे | मरीज दर्द से तड़प उठता हे सच में  ही भयावह स्थति होती हे | – बवासीर का घरेलु और देसी इलाज हिंदी में

कभी कभी मास्सा छील जाता हे जिससे घाव हो जाता हे | ऐसी स्थति में तुरंत डॉक्टर के पास जाये क्योकि हो सकता हे की आपको ब्लडिंग भी हो सकती हे जिसे तुरंत रोकना जरुरी हे | बाहरी बवासीर में मास्सा गुदा मार्ग के पास होता हे जिसमे कभी कभी मीठी खारिश या खुजली होती हे | कभी कभी मस्से के फुट जाने पर  बहुत खून निकलता हे जिसे देख कर मरीज घबरा जाता हे | और चेहरा पीला पड़ जाता हे – बवासीर का घरेलु और देसी इलाज हिंदी में

बवासीर के कुछ अन्ये लक्षण या शुरूआती लक्षण

  • बवासीर से हाजमा ख़राब रहता हे
  • भूख नहीं लगती
  • कब्ज रहती हे
  • पेट में गैस बानी रहती हे
  • मेदा ,दिल, जिगर कमजोर होने लगता हे
  • मरीज के मुँह पर हलकी सूजन सी रहती हे

बवासीर का घरेलु उपाए और दवा

50 ग्राम रीठे लेकर तवे पर रखकर कटोरी से ढक दे और तवे के निचे करीबन आधा घंटा आग जलाये | रीठे भस्म हो जायेंगे ठंडा होने पर कटोरी हटा कर रीठे को पीस कर भस्म बनाले | 20 ग्राम रीठे की भस्म ,20 ग्राम कत्था सफ़ेद , कुश्ता  फौलाद 3 ग्राम सबको बारीक़ करके मिला ले |

वजन खुराक 1 ग्राम सुबह को  1 ग्राम शाम को ,20 ग्राम माखन में मिलकर सेवन करे | ऊपर से 250 ग्राम गुनगुना दूध पिए 10 से  15 दिन तक नियमित लेने पर बवासीर से हमेशा के लिए निजात मिल जाएगी |

बवासीर में क्या क्या परहेज ले

तली भुनी चीजे न ले , गुड ,मास ,शराब ,आम,ज्यादा खट्टा न खाये ,कब्ज ने होने दे ज्यादा मसालेदार खाना ने खाये ,बीड़ी सिगरेट तम्बाकू से दूर रहे | तरीदार सब्जी का सेवन करे ,दाल पालक आदि खाये

बवासीर के लिए मरहम और दवा मस्से के लिए

वैसलीन  सफ़ेद 50 ग्राम कपूर 6 ग्राम सल्फाडेयजीन की 3 गोलिया ,बोरिक एसिड 6 ग्राम  सबको बारीक़ पीस कर वेसलीन में मिलकर रोज सोते टाइम और सुबह शौच जाने से पहले वे दिन में मस्से पर अंदर और बहार  लगाए ऊँगली से

खुनी बवासीर के किये खास दवा

गेंदे के हरे पत्त्ते 10 ग्राम , काली मिर्च के पांच दाने ,कुंजा मिश्री 10 ग्राम ,60 ग्राम पानी में रगड़ कर छाने और चार दिन तक एक एक बार पिए | गर्म चीज ने खाये और कब्ज ने होने दे |

READ MORE ARTICLE

गर्मी के मौसम में खुद को कूल कैसे रखे 

About rohit bhatt

hello ,मेरा नाम rohit bhatt ,में कोटा राजस्थान (india)का रहने वाला हु | हे में इस वेबसाइट का admin हु |मेने ही यहे वेबसाइट बनायीं हे और इस लिए बनायीं हे ताकि में आप लोगो को वेह जानकारी दे सकू जो आमतोर पर सभी को नही पता होती तो मेरा मकसद उनलोगों की help करना हे जो अंग्रजी में कमजोर हे |में ने इसी लिए यहे website पूरी हिंदी में बनायीं हे |ताकि indian लोगो को हिंदी में समझ आजाये में इस website में सामान्य ज्ञान वे technology के बारे में समझाता हु और education सम्बंधित पोस्ट या जानकारी डालता हु

View all posts by rohit bhatt →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *