भूत कैसे होते है, जानिए भूतो के बारे में 10 विचित्र बातें।

भूत और भूतों से जुड़े  किस्से और कहानिया आपने बचपन से सुनी होगी। भूत हमेशा से एक रहस्य्मय विषय रहा हे। में आपको भूत और प्रेतों के बारे मे 10 विचित्र बाते बताऊँगा। बहुत से लोग भूत को महज अन्धविश्वास और  मनोरंजन का हिस्सा मानते हे, लेकिन पौराणिक मान्यताओं में भूत प्रेतों का जिक्र हमेशा से किया जाता रहा हे ।

और आज भी वैज्ञानिक दृष्टिकोण से न देखा जाये तो भूतो पर विश्वास करने वालो की संख्या भी कम नहीं हे। मतलब भूत होते हे या नहीं, इस बात को स्वीकारा नहीं जा सकता तो पूर्णतया नाकारा भी नहीं जा सकता हे ।

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार भूत किसी इंसान की मृत्यु के बाद उसकी भटकती आत्मा हो कहा जाता हे। जब किसी इंसान की मरने से पहले अधूरी इच्छा पूरी नहीं हो पाती हे, तो मरने हे बाद उसकी आत्मा को मुक्ति नहीं मिलती हे, और वह काल के बिच भटकती रहती हे, जिसे भूत कहा जाता हे ।

भूत कैसे होते है भूतो के बारे में 10 विचित्र बातें

इंसानी सभ्तया में आधुनिक काल में भी कथित तौर से भूत- प्रेतों से जुडी विचित्र बाते लोगो के दिमाग में गहराई तक समाई हुई हे, और आज भी भूत पर विश्वास किया जाता हे। हालाँकि हो सकता हे की पढ़े  लिखे शिक्षित लोग इन सब को महज एक अन्घविश्वास मानते हो। लेकिन में आपको इन सब पर भरोसा करने के लिए नहीं कह रहा हूँ। में सिर्फ आपको भूत से जुडी रोचक बाते बताने की कोशिश कर रहा हूँ इन पर विश्वास करना या न करना आप के ऊपर हे ।

1. भूत किसे कहते है ?

भूतो की कहानियों में और पौराणिक मान्यताओं में भूतो का अस्तित्व दर्शाया गया हे उस आधार पर भूत मृत व्यक्ति की भटकती आत्मा को कहा जाता हे। जो की मुक्ति और पुनर्जन्म के काल चक्र में घूमती रहती हे । ऐसा व्यक्ति जिसकी कोई प्रबल इच्छा पूर्ण नहीं हुई हो और वह काल के गाल में समां गया हो, वह प्रेत आत्मा बन कर भटकता रहता हे , उसे ही भूत कहा जाता हे ।

2. भूत कैसे होते है ?

अक्सर हॉरर फिल्मो में भूत को बहुत भयानक दिखाया जाता हे जिसे देख कर ही हर किसी को डर का एहसास हो जाता हे । भूतो के किस्सों कहानियों में भी भूत को डरावना बताया गया हे । यह एक ऐसा चेहरा होता हे जिसे शायद आप देखना नहीं चाहेंगे ।

सफ़ेद कपडे में लिपटी हुई एक काली परछाई जैसी जिसकी आंखे कुरख पिली या लाल हो चेहरे पर बड़े बड़े खाव के निशान , भूत दिखने में ऐसा लगता होगा जैसे की कोई मृत व्यक्ति मरने के बाद जैसा हो जाता  होगा , वैसा ही आपके सामने आज्ञा हो । 

भूत बहुत ही भयानक चेहरे वाला भी हो सकता हे, तो सामान्य से दिखने वाले इंसान की तरह भी हो सकता हे । एक बार तो आपको लगेगा की यह कोई इंसान ही हे लेकिन कुछ देर बाद आपको एहसास हो जायेगा की यह तो कोई प्रेत आत्मा हे कोई भूत हे। भूतों के कई किस्सों में किसी व्यक्ति की मृत्यु के बाद उसे उसी क्षण किसी और जगह देखे जाने के बारे में बताया गया हे । और बाद में पता चलता हे की उसकी तो मृत्यु हो चुकी हे ।

3. भूत कैसे बनते है ?

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार कहा जाता हे की जब किसी इंसान की कोई प्रबल इच्छा मरने से पहले पूर्ण नहीं होती हे,तो उसे मुक्ति नहीं मिलती हे। और वह पुनर्जन्म और मुक्ति के काल में भटकती रहती हे और इसी भटकती प्रेत आत्मा को ही भूत कहते है । भूत बनाने के बाद इंसान अपनी अधूरी इच्छा पूरी करने के लिए किसी शरीर से चिपक जाता हे । जिसे भूत – प्रेत की बाधा  कहा जाता हे । भूत का सांयां किसी पर पड़ जाये तो उसे बहुत परेशानी होती हे ।

4. भूत कहाँ पर मिलेगा ?

ऐसा कहा जाता हे की भूत ऐसी जगहों पर निवास करते हे जहाँ कोई आता जाता नहीं हो वह स्थान एकांत में हो और उस पर सूरज की रौशनी भी बड़ी मुश्किल से पहुँचती हो , ऐसे स्थान भूतो के लिए अनुकूल बताये जाते हे । भूत से जुड़े किस्सों में भूत की रहने की जगह उनके अंतिम स्थान या जिस जगह उस की मृत्यु हुई हो जैसे की – आत्महत्या किये जाने का स्थान , इसके आलावा शमशान घाट , कब्रिस्तान , अस्पताल का पोस्मॉर्टम रूम , आदि भूतो के रहने की जगह हे । जैसा की हिंदी हॉरर फिल्मो में अक्सर बताया  गया हे ।

5. क्या भूतों से मिला जा सकता हे ?

भूत आपको इतनी आसानी से नहीं मिलेगा । क्योंकि भूत के मिलने का स्थान और समय कोई नहीं जानता हे । भूत आपको कब और कहाँ मिलेगा यह एक रहस्य हे बोत से मिलने की कोशिश करना आपके लिए घातक साबित हो सकती हे ऐसा न हो की आप किसी भयंकर मुसीवत में पड़ जाये । में यह अन्धविश्वास को बढ़ावा देने के लिए नहीं कह रहा हूँ बल्कि मेरी सलाह हे की बिना किसी जानकारी और जानकर के मार्गदर्शन से ऐसा करना बहुत खतरनाक हो सकता हे ।

में आपको भूतो से मिलने का एक पुराण और जाना पहचाना तरीका बराऊँगा । अक्सर अपने हॉरर फिल्मो में आत्माओ को बुलाने के लिए एक लकड़ी के बोर्ड पर मोमबत्ती जलाकर आत्मा को बुलाने का तरीका देखा होगा । उस लकड़ी के बोर्ड को उइजा (ouija) या प्लेनचिट (Planchette Board) भी कहा जाता हे ।

जब किसी प्रेत आत्मा को बुलाना होता हे तो बस उस Planchette बोर्ड पर एक मोमबत्ती जलाकर और उसके बीचो बिच एक ताम्बे का सिक्का रख कर उस पर अपनी ऊँगली रख कर आत्मा को पुकारने पर आत्मा प्रकट हो जाती हे । यह बात हॉरर फोल्मो में अक्सर दिखाई गयी हे । में इसे करने की सलाह आपको बिलकुल नहीं दूंगा ।

6. भूत इंसानो को कब दिखाई देता है

भूत हमेशा और हर किसी व्यक्ति को दिखाई नहीं देते है इनका भी कोई निश्चित समय होता हे और यह एक बहुत बड़ा रहस्य भी हे , अपने अक्सर भूतो के किस्सों में सुना होगा की उस व्यक्ति को भूत मिल गया था या उस में भूत देखा हे ।

लेकिन में आपको बता दू की भूत उस इंसान को अक्सर दीखता हे जो बुरे वक्त में घर से बहार निकलते हे , जैसे की रात को 11 बजे बाद और सुबह होने से पहले 3 बजे के आसपास  यह समय  भूतो के लिए होता हे , और जिन  लोगो गण ख़राब होते हे उन्हें भी रात को भूत दिखने की सम्भवना ज्यादा होती हे । आपको अपने गण के बारे में और अधिक कोई पंडित या जानकर व्यक्ति बता सकता हे ।

7. भूत कितने प्रकार के होते है ?

जैसा की अक्सर अपने सुना होगा की भूत बहुत भयानक दीखते है , लकिन ऐसा aapne यह भी सुना होगा की भूत एक नार्मल इंसान जैसा दिखाई दिया या अपने भूतो के किस्सों में सुना होगा की भूत बहुत बड़े आकर जैसा था जैसे की कोई पेड़ जैसा । तो में आपको बता दू की भूत अलग अलग प्रकार के होते हे और आश्चर्य की बात तो यह हे की इन सब भूतो का अलग अलग नाम होता हे । जैसे की – पिशाच , प्रेत , जीन, चुड़ैल , डायन , यह सब भूतो के प्रकार के । में आपको इनके बारे में संक्षेप में बताता हूँ ।

पिशाच –  पिशाच अक्सर रात में विचरण करते हे अपने ड्रैकुला की हॉरर फिल्म जरूर देखि होगी जिसमे ड्रैकुला रात में इंसानो का खून पिता हे इसके दो दांत लम्बे होते हे ड्रैकुला को हिंदी में पिशाच कहते है 

भूत या प्रेत –  भूत और प्रेत एक ही होते हे जिसे अंग्रजी में घोस्ट कहते हे यह मरने के बाद भटकती हुई प्रेत आत्मा होती हे जो किसी व्यक्ति की अंतिम इच्छा पूरी न होने से वह भूत बन कर भटकती रहती हे और अक्सर लोगो को दिखाई भी देती हे ।

जीन – जिन भूत ही होते हे लेकिन इनमे कुछ खास जादुई ताकते होती हे यह किसी इंसान का अच्छा भी कर सकते हे तो किसी इंसान का बहुत बुरा भी कर सकते हे ज्यादातर काला जादू करने वाले इन जिन देवताओ की पूजा अर्चना करते हे और काला जादू में इनका इस्तमाल करते हे ।

चुड़ैल –  चुड़ैल को अंग्रेजी में डायन कहा जाता हे और यह भूत ही होती हे लेकिन यह औरत के रूप में होती हे और सबसे ज्यादा डरावनी और खतरनाक भी होती हे यह जायदातर लोगो गवारा देखि जाती हे और किसी भी रूप को धारण करने  में समर्थ होती हे चुड़ैल अपनी अंतिम इच्छा को पूरी करने के लिए कुछ बी कर सकती हे ।

8. भूत को कैसे पहचाने ?

भूत को पहचाने के लिए आपको कुछ जानकरी होनी चाहिए में आपको भूतो को पहचकने की जानकारी दूंगा । भूतो को सिर्फ उनके लक्षणों से पहचाना जा सकता हे सभी भूतो में कोई न कोई विकार होता हे यह विकार उनके अंगो में भी हो सकता हे और उनकी आवाज में भी हो सकता हे ।

1. बहुत अधिक खाना – भूतो को बहुत अधिक भूख लगती हे और मांस खाने के लिए कहते हे रात में कोई अजनबी को  घर बुलाने से पहले सावधान रहे ,

2. पैरों का उल्टा होना – यदि   koi अजनबी आपके घर रात को आया हो तो उस पर नजर रखे की कहीं उसके पैर उलटे तो नहीं हे,यानि यदि पीछे और पंजे आगे तो नहीं हे ऐसा हे तो वह भूत हे ।

3. पानी और आग से डरना – अक्सर भूत और पिशाच पानी और आग से डरते हे यदि आपको भी कोई पानी दे और आग से डरता हुआ दिखाई दे तो हो  सकता हे की वो भूत हो।

9.  क्या भूत सच में होते हे ?

पौराणिक मान्यताओं  अनुसार  भूतो की भी योनि होती हे वेदो में और पुराणों में राक्षश योनि और प्रेत योनि का उल्लेख किया गया हे । हनुमान चालीसा के एक पंक्ति में यह खा गया हे “भूत -पिशाच निकट नहीं आवे महावीर जब नाम सुनावे ”  तो साफ तोर पर नाकारा यही जा सकता हे की भूत नहीं होते हे । लेकिन आधुनिक युग में इसे अन्धविश्वास मन जाता हे क्यंकि इसका कोई विघ्यनिक आधार नहीं हे । भूत होने का सच एक बहुत बड़ा रहष्ये हे।  भूत लगना और भूत का प्रभाव होना जैसी मान्यता आज भी समाज में हे।

10.  भूत से बचने का उपाय

यदि आपको भूत से बहुत डर लगता हे और आप  इस चिंता में हे की कोई भूत आपको मिल न जाये तो आप अपने अंदर के आत्मविश्वास को मजबूत करे क्योकि देखा गया हे की व्यक्ति भूत के डर से ही मानसिक बीमार रहने लगता हे। वैसे आप ईश्वर में अपनी गहरी आस्था रख सकते हे। बुरे विचारो से दूर रहे भूतो के बारे में ज्यादा न सोचे  और  आत्मविश्वास बढ़ने के लिए ताबीज या माला अपने गले में पहन सकते हे।  इस से भूत पिशाच आपके निकट नहीं आएंगे।

नॉट – यह जानकारी किसी अन्धविश्वास को बढ़ावा देने के लिए नहीं बल्कि आपकी जानकारी और मनोरंजन के लिए हे इसका वास्तविकता से कोई संबंध नहीं हे ।

Leave a Comment