computer kya hai

computer kya hai

नमस्ते दोस्तों आपका स्वागत हे , इस आर्टिकल में हम जानेगे की कंप्यूटर क्या है और कैसे काम करता हे कंप्यूटर से जुडी हर छोटी बात  की चर्चा करेंग | आज के दौर में हर काम कंप्यूटर से होने लगा हे चाहे वो | computer kya hai मेडिकल से जुड़ा हो या एजुकेशन से या फिर उत्पादन या इन्डस्ट्री से जुड़ा हो हर काम को कंप्यूटर के तेज दिमाग और तार्किक क्षमता से आसान और जल्द किया जा रहा हे | ऐसा कहे की हर काम कंप्यूटर आधारित होने आगा हे | ऐसा कहना भी उचित होगा की ये कंप्यूटर का युग आ गया हे computer kya hai

computer kya hai

computer kisne banaya,कंप्यूटर का इतिहास

18 वि सदी बौद्धिक समपदा का युग माना जाता हे | इस (1800 )सदी में कई आविष्कार हुए हे | सर अल्वा एडिसन और थॉमस एडिसन उस दौर के जाने माने अविष्कारक थे | और राइट बन्दुओ के हवाई विमान बनाने की खबरे भी सुर्खियों पर थी | गणित और ज्यामिति की भी अच्छी जानकारी वैज्ञानिक जुटा चुके थे | गणना करने के लिए कैलकुलेटर जैसा उपकरण (एबेकस )पहले से ही मौजूद था | computer kya hai

1822 ईस्वी में चर्ल्स बेबेज  नाम के  वैज्ञानिक ने डिफ्रेंसिअल इंजिन नाम के मेकेनिकल कंप्यूटर का अविष्कार किया जिको एबेकस के सिद्धांत पर आधारित था जोकि गणना करने ने सक्षम था| अगर पेटेंट की बात करे तो मोठे तोर पर कंप्यूटर का अविष्कारक चर्ल्स बेबेज को ही माना जाता हे | लेकिन पैसो की कमी के चलते वो इसे आगे नहीं बड़ा पाए | कालांतर में कंप्यूटर के के अविष्कार में कई वैज्ञानिको ने अपना योगदान दिया हे और कप्म्यूटर का वर्तमान स्वरूप सामने आया | computer kya hai

इसके बाद 1938 में अमेरिका ने इलेक्ट्रो मेकैनिकल कंप्यूटर बनाया जिसका नाम तारपीडो कंप्यूटर रखा गया | इसके बाद 1939 में Konrad Zuse ने Z2 कंप्यूटर बनाया | जिसमे पहली बार वैक्यूम ट्यूब्स का इस्तेमाल किया गया | और यही प्रथम पीढ़ी का कंप्यूटर माना जाता हे |ये z2 श्रेणी का इलेक्ट्रो मेकेनिकल रिले टाइप का था फिर इसका नया संस्करण Z3 टाइप लॉन्च हुआ जोकि 2000 रिले से बना था | और वैकुम टुब्स का इस्तमाल किया गया | computer kya hai

1947 में बेल लेबोरेटरी ने ट्रांजिस्टर का आविष्कार किया | ट्रांजिस्टर का उपयोग कंप्यूटर में वरदान साबित हुआ इसने कंप्यूटर के आकर को बहुत छोटा कर दिया नहीं तो Z 3 मोडल वाले कंप्यूटर का आकर एक 10 गुना 12 आकर के कमरे के बराबर होता था | ट्रांजिस्टर से रिले और वैकुम टुब की जरुरत को खत्म कर दिया | computer kya hai

दुनिया का पहला डेस्कटॉप (टेबल पर रखने वाला ) कंप्यूटर इटली की कंपनी (Italian Company Olivetti) ने 1964 में बनाया | जिसकी कीमत 3200 डॉलर राखी गयी थी | लगभग 200000 रुपए | 1985 में “अटारी कॉर्पोरेशन ” ने 520ST कंप्यूटर मोडल लॉन्च किया जिसमे एक माइक्रो प्रोसेसर,( 32 बिट) 256 kb ram लगी थी | 3.1/2 की फ्लॉपी डिस्क ड्राइव थी जो स्टोरेज का काम करती थी |

वर्तमान कंप्यूटर एक व्यापक उपकरण हे जोकि कई तरहे के करए एक साथ करने में सक्षम हे | और इंटरनेट के अविष्कार ने इसकी उपयोगिता को और विस्तृत्व और बड़ा बना दिया हे |

कंप्यूटर के अनुप्रयोग

कंप्यूटर का प्रयोग सभी क्षेत्रों में किया जा रहा हे | चाहे मिडिया मल्टिमीडिए ,ट्रांसपोर्ट ,स्पोर्ट ,व्यवसाय ,उधोग,इंटरटेनमेंट, सभी जगह किया जा रहा हे | जिसमे मेडिकल और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में तो क्रांति लादी हे | विज्ञानं के अनुप्रयोगों में कंप्यूटर विश्लेषण से एक नए वैज्ञानिक अनुभव और विषय को समझने में बहुत मदद मिली हे क्योकि कंप्यूटर की तार्किक क्षमता बहुत अधिक हे ये कई संख्याओ की गणना एक साथ कर सकता हे | जिसे मनुष्यो को करने में बहुत समाये लग सकता हे | computer kya hai

कंप्यूटर के कौन कौन से भाग होते हे

कंप्यूटर के कौन कौन से भाग होते हे

बेसिक जानकारी की बात करे तो मोठे तोर पर वर्तमान कंप्यूटर दो प्रकार के हे डेस्कटॉप कंप्यूटर और लेपटॉप कंप्यूटर दोनों में सिर्फ आकर का फर्क होता हे डेस्कटॉप टेबल पर रखा जाता हे जबकि लेपटॉप को आप कही भी लेजा सकते हे ये आपके बैग में भी समा सकता हे | जिसे ले जाना आसान होता हे | लेपटॉप कीमत में डेस्कटॉप से मेहेंगा होता हे | computer kya hai

इनपुट डिवाइस -कंप्यूटर में डाटा भेजने वाले उपकरण जोकि कंप्यूटर में इनफार्मेशन या डाटा भेजने का काम करते हे | उन इनपुट डिवाइस कहते हे जैसे की -माउस ,कीबोड ,स्केनर ,माइक्रो फोन ,वेब कैमरा ,

आउटपुट डिवाइस – जी उपकरण कंप्यूटर में डाटा बहार निकलने का काम करता हे | ऐसे उपकरण से कंप्यूटर से इनफार्मेशन निकलने का काम करते हे | जैसे की मॉनिटर ,प्रिंटर ,आदि

कंप्यूटर कैसे काम करता हे

कंप्यूटर एक इलेक्रॉनिक मशीन हे | जो केवल इलेक्ट्रॉनिक यानि करंट की भाषा समझता हे | कम्पुयटर में बाइनरी (0,1) भाषा चलती हे | जोकि डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक में हाई और लौ करंट के एक श्रंखला होती हे जैसे की 0 (जीरो =लौ ), 1 ( एक =हाई )करंट उदहारण में सनाझने की कोशिश करे | computer kya hai

A – 01000001 B – 01000010 C – 01000011 D – 01000100 E – 01000101 F – 01000110 G – 01000111 H – 01001000 I – 01001001 J – 01001010 K – 01001011 L – 01001100 M – 01001101 N – 01001110

ये जीरो और एक यानी निम्न और उच्च करंट (0 ,1 )की भाषा को कंप्यूटर बाइनरी भाषा कहते हे जिकी एक मचिनी लेंगुएज हे |

कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम क्या हे

वर्तमान कंप्यूटर में मौजूद सॉफ्टवेयर जैसे की विंडोज 7 ,विंडोज xp ,लिनेक्स ,यूनिक्स ,सभी कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम हे | ऑपरेटिंग सिस्टम यूजर और कंप्यूटर के बिच सामंजस्य (कनेक्टिविटी )बनता हे | os (ऑपरेटिंग सिस्टम ) एक कड़ी हे जो कंप्यूटर को हमारे आर्डर या निर्देशों को करने का आदेश देती हे computer kya hai

कंप्यूटर और इंटरनेट

इस लिंक पर जाकर आप कंप्यूटर का बेसिक कोर्स कर सकते हे –google computer app

इंटरनेट का इस्तमाल कंप्यूटर में तब से किया जा रहा हे जबकि मोबाइल का अविष्कार ही नहीं हुआ था | लेकिन अब तो कंप्यूटर से ज्यादा मोबाइल में इंटरनेट इस्तमाल किया जा रहाहे लेकिन बगैर कंप्यूटर इंटरनेट की कल्पना नहीं की जा सकती इंटरनेट के इतने बड़े सूचना समूह जिसे डाटा कहते हे इन सब विशाल डाटा बेस का पूरा आदान प्रदान कम्प्यूटर दुवारा ही होता हे | इंटरनेट एक मोबाइल नेटवर्क के सामान के जिसमे दुनिया के सभी कंप्यूटर आपस में जुड़े हे और | सूचनाओं (वीडियो ,ऑडियो ,टेक्स्ट फाइल )का ट्रांसमिशन चलता रहता हे |जोकि पूरा कंप्यूटर पर निर्भर हे |

कंप्यूटर की कुछ रोचक जानकारी

दैनिक प्रयोग में आने वाला कॉम्प्यूटर माउस सबसे पहले लकडीका बनाया गया था।

प्रतिमाह लगभग 5000 कॉम्प्यूटर वायरसबनाये जाते हैं।

अब तक लगभग 17 अरब डिवाइस में इन्‍टरनेट प्रयोग किया चुका है।

विश्‍व की पहली हार्डडिस्‍क में केवल 5 MB डाटा स्‍टोर किया जा सकता था।

कम्‍प्‍यूटर स्‍क्रीनमें दिखने वाले सभी द्रश्य केवल तीन रंगों (लाल, हरा, नीला) से मिलकर बने होते हैं।

दुनिया के पहले कॉम्प्यूटर मॉनिटर का प्रयोग सर्वप्रथम 1980 में किया गया था।

प्रथम पीढ़ी का कंप्यूटर एक रूम जितना बड़ा था जिसमे वैकुम ट्यूब लगी थी और इस चलने के किये हाई वाल्ट करंट चाहिए होता था |

तीसरी पीढ़ी का कंप्यूटर की कीमत 3200 डॉलर थी आज के 2 लाख के बारे बार

दुनिया का पहले कॉम्प्यूटर की बोर्ड का अविष्‍कार 1968 में किया गया था।

CD, DVD और Pen Drive से पहले बाहरी डाटा आदान प्रदान करने हेतु फ़्लॉपी डिस्क का प्रयोग किया जाता था।

प्रथम फ़्लॉपी डिस्क का अविष्‍कार 1970 में हुआ था, जिसकी स्‍टोरज क्षमता केवल 75.79 KB थी।

दुनिया में सर्वाधिक प्रयोग किया जाना वाला USB हार्डवेयर पेन ड्राइव वर्ष 1999 में अस्तित्‍व में आया था। लेकिन बाजार में इसे वर्ष 2000 में उतारा गया था, उस समय इसकी स्‍टोरेज क्षमता केवल 8 MB थी।

MORE ARTICLES

@ windows 7 kaise install kare

@ computer ki basic knowledge

@7 ajube duniya ke

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *