internet kya hai

internet kya hai

internet kya hai-कैसे काम करता हे-पूरी जानकारी

इंटरनेट क्या हे – इस आर्टिकल में आपको इंटरनेट से जुडी सभी महत्वपूर्ण जानकारी दी जाएगी जैसे की इंटरनेट की शुरुआत कब से हुई इंटरनेट कैसे काम करता हे ,इंटरनेट का अविष्कार किसने किया इंटरनेट के फायदे और नुक्सान क्या क्या हे  और इंटरनेट का हमारे दैनिक जीवन में क्या क्या महत्त्व हे इस सब विषयो पर हम इस आर्टिकल में विस्तार से चर्चा करेंगे | तो आईये जानते हे की इंटरनेट क्या हे internet kya hai

internet kya hai

internet kya hai-इंटरनेट क्या है

इंटरनेट कम्यूटर्स का एक विशाल नेटवर्क होता हे ,जब दो या दो से अधिक कंप्यूटर आपस में एक  जुड़े रहते हे तो वो एक नेटवर्क में होते हे उसी तरह नेटवर्क के इस जाल को तीन भागो में वर्गीकृत किया गया हे पहला LAN (लोकल एरिया नेटवर्क )दूसरा MAN (मेट्रोपीलियन एरिया नेटवर्क )तीसरा  WAN (वाइल्ड एरिया नेटवर्क ) LAN नेटवर्क छोटे एरिये जैसेकि कोई ऑफिस में रखे 10 -15  कम्प्यूटर्स का नेटवर्क – internet kya hai

MAN नेटवर्क किसी city या पुरे शहर को कवर करता हे जिसमे हजारो कंप्यूटर का एक नेटवर्क हो ,WAN इस नेटवर्क में कम्प्यूटर्स और नेटवर्क का एक विशाल जाल जैसा हो जाता हे और पूरी दुनिया को कवर करता हे जिसमे हजारो लाखो कंप्यूटर आपस में सूचनाओं का आदान प्रदान कर सकते हे इंटरनेट भी इसी नेटवर्क के अंतर्गत आता हे –

इंटरनेट कैसे काम करता हे

जैसा की मेने ऊपर बताया हे की इंटरनेट कम्प्यूटर्स का एक विशाल नेटवर्क हे जोकि आपस में जुड़े होते हे और सूचनाओं (डाटा )का आदान प्रदान करते हे ,इंटरनेट की सूचनाएं यातो किसी लोकल कंप्यूटर में सेव रहती हे या सर्वर (server ) पर ,सर्वर एक शक्तिशाली कंप्यूटर होता हे जोकि हाई स्पीड डाटा ट्रांसमिट सिस्टम से जुड़ा रहता हे| इंटरनेट की केबल्स समुन्दर में बिछाई जाती हे

server

इंटरनेट सर्वर एक शक्तिशाली कंप्यूटर होता हे जोकि एक हाई स्पीड इंटरनेट से जुड़ा रहता हे , सर्वर में उच्च प्रोसेसिंग क्षमता और बहुत अधिक स्टोरेज शमता होती हे एक सर्वर में बहुत  हजारो टेरा बाईट मेमोरी स्टोर की जा सकती हे सर्वर अपना स्वम का भी हो सकता हे और बहुत सरे वेबसाइट के मालक भी सर्वर पर अपनी वेबसाइट सेव रखते हे – internet kya hai

web browser

इंटरनेट ब्राउज़र या वेब ब्राउज़र एक ही होता हे जब कोई इंटरनेट यूजर अपने कंप्यूटर या मोबाइल में इंटरनेट इस्तमाल करता हे तो वो अपने कंप्यूटर या मोबाइल में कोई न कोई ब्राउज़र का उपयोग कर रहा होता हे जैसे की internet explorer ,uc ब्राउज़र,ओपेरा mini , मोज़िला फायर फॉक्स ,क्रोमे ब्राउज़र आदि ये सभी इंटरनेट ब्राउसर होते हे

web browser

इंटरनेट ब्राउज़र पर जब आप कोई सुचना या डाटा सर्च करता हे तो ब्राउज़र उस सुचना को सर्वर या होस्ट कप्म्यूटर जहा पर इन्फॉर्मेशन सेव हे वहा से खोज कर आपके सामने पेज को लता हे  हर वेब पेज का एक वेब एड्रेस होता हे जिसे URL (Uniform Resource Locator) कहते हे

यह कुछ इस प्रकार का होता हे- https://10total.com/computer-kya-hai/ या फिर इस प्रकार का – https://www .10total.com/computer-kya-hai/ यहां दोनों url का सर्वर और वेब पेज एक हे पर , url अलग अलग हे उसी प्रकार हर वेब पेज का यूआरएल अलग अलग होता हे जिसे वेब ब्राउज़र खोज कर लता हे

web page

 

जब कोई यूजर इंटरनेट इस्तमाल कर रहा होता हे तब वो कई सारी इनफार्मेशन कलेक्ट कर रहा होता हे तथा वेबसाइट ओपन करने के दौरान  जो जो पेज ओपन होते हे उन्हें वेब pages कहते हे तथा हर  वेब पेज का URL अलग अलग होता हे,वेबसाइट के ये पेज HTML लैंग्वेज में बने होते हे जिसे http (हाइपर टेक्स्ट टाइप प्रोटोकॉल )के जरिये ब्राउज़र दुवारा पहचाना और जिस डिज़ाइन और लेआउट में वो पेज हे उसी में आपको शो होता हे – internet kya hai

इंटरनेट की शुरुआत-इंटरनेट का इतिहास

1960 से 1970 के दशक के बीच इंटरनेट का अविष्कार हुआ था ,इसका जनक Robert Elliot Kahn and Vint Cerf को माना जाता हे ये इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर थे तार के दुवारा एक कम्यूटर से दूसरे कंप्यूटर तक पहला सन्देश इन्होने ही भेजा था|  शुरुआत में इंटरनेट का इस्तमाल सेना की खुफिया जानकारी भेजने में किया जाता था जिसका सिमित दायरा था ,

1969 अरपानेट “ARPANET “(ADVANCE RESEARCH PROJECT AGENCY NETWORK ) की खोज – इस समय अवधि में इंटरनेट की खोज तो हो गयी थी मगर इसको आप एक शुरुआत मात्र मान सकते हैं। इंटरनेट के असल उपयोग को समझना अभी बाकि था मगर यह बात तो तय थी की कुछ ऐसा खोज लिया गया था जिसका भविष्य के निर्माण में अहम योगदान था। ARPANET रक्षा विभाग का हिस्सा था – internet kya hai

भारत में इंटरनेट की शुरुआत

-भारत में इंटरनेट की शुरुआत 15 अगस्त सन 1995 में में हुई थी “vsnl “(विदेश संचार निगम लिमिटेड ) पहला इंटरनेट सर्वीस प्रोवाइडर था जिसने भारत में इंटरनेट की सवा शुरू की थी| उस समय भारत में केवल एक हजार आदमी ही इंटरनेट का उपयोग करते थे,उस समय इंटरनेट की स्पीड मात्र 9.6 kbps की थी जब से रिलायंस कम्पनी ने भारत में jio की शुरुआत की हे भारत में इंटरनेट यूजर की संख्या में भरी बढ़ोतरी हुई हे इसके लिए में रिलायंस कम्पनीय को धन्यवाद देना चाहता हु | आज भारत दुनिया में सबसे बड़ा इंटरनेट यूजर देश बन चूका हे जोकि चीन से भी ज्यादा हे – internet kya hai

इंटरनेट के फायदे

  • चिकित्सा के क्षेत्र में –इंटरनेट का बहुत महत्वपूर्ण उपयोग के देश विदेश के डॉक्टर से इलाज पर चर्चा और मदद ऑनलाइन ली जा सकती हे
  • कृषि के क्षेत्र में- भी इंटरनेट का अहम् उपयोग हे अब नयी नयी खेती करने के तरीको के बारे मे इंटरनेट से जानकारी ली जा सकती हे
  • शिक्षा के क्षेत्र में– इंटरनेट पर ऐसी कई सारी वेबसाइट हे जोकि शिक्षा से जुडी नयी नयी जानकारी और पाठ्ये कर्म की जानकारी देती हे जोकि स्टूडेंट के लिए काफी हेल्प फूल होती हे
  • बैंक में – बैंक के सभी लेन -देन के कार्य इंटरनेट के माध्यम से ही होते हे कंप्यूटर से इंटरनेट के दुवारा खातों में पैसे का लेनदेन और हिसाब किताब इंटरनेट से ही संभव हे ,ATM से पैसो का कही से भी लेनदेन आसानी से किया जा सकता हे ये एक बहुत अच्छा और उपयोगी साबित हुआ हे
  • रक्षा के क्षेत्र में – सुरक्षा चाहे देश की हो या अपनी हो इंटरनेट से नजर रखी जा सकती हे अपने गोपीये दस्तावेज को कम्प्यूटर में पासवर्ड डाल कर सेव किया जा सकता हे साथ ही राडार प्रणाली पूरी कम्प्यूटर से चलती हे

इंटरनेट के अपने नुकसान भी हे

जैसे की इंटरनेट पर अपने सतर्कता नहीं बरती तो आपके दस्तस्वेज चोरी या हथियालिये जा सकते हे ,ऐसे बहुत सारे कम्प्यूटर हैकर भी होते हे जोकि इंटरनेट से डाटा को बिगाड़ या सेंध कर सकते हे | साथ ही कंप्यूटर में ऐसे  “बग ” या सॉफ्टवेयर भी होते हे जिसे “वायरस ” भी कहते हे जोकि कंप्यूटर के प्रोग्राम में धुस कर अपने कार्य को बिगड़ सकते हे

इंटरनेट से जुड़े कुछ रोचक तथ्ये

  • भारत में इंटरनेट की शुरुआत 15 अगस्त 1995 में हुई थी
  • भारत में 1995 में  एक हजार यूजर थे
  • शुरू में इंटरनेट की स्पीड 9 .6 kbps थी
  • आज भारत दुनिया में पहले नंबर पर सर्वाधिक इंटरनेट उपयोग करता हे
  • दुनिया में आज भी 70 % लोग 3 G  इंटरनेट का यूज़ करते हे

READ MORE ARTICLES

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *