खासी की दवाई बनाने का देसी तरीका जाने

खासी की दवाई बनाने का देसी तरीका जाने

khasi ki dawa-खासी का घरेलु इलाज जाने

खासी बहुत ही आम बीमारी हे जोकि अक्सर सर्दियों के मौसम में और | गर्मी सर्दी के उतार चढ़ाव  से  अक्सर खासी हो जाती हे |खासी एक मौसमी बीमारी भी हे | मौसम के बदल ने से भी खासी हो जाती हे | इस पोस्ट में खासी की देसी दवा से इलाज कैसे किया जाता है | और कोन कोन सी देसी दवा हे जोको खासी का बेहतर और जल्द इलाज कर सकती हे | इस बारे में पूरा बताया जायेगा ताकि आप घर पर ही दवा बनाकर खासी का इलाज कर सके |-खासी की दवाई बनाने का देसी तरीका जाने

खासी की दवाई बनाने का देसी तरीका जाने

यहां में खासी की दवा बनाने के पांच नुस्खे बताऊंगा किसी भी नुस्के की उचित मात्रा सही समाय और निर्धारित समय तक लेने पर आपको खासी से जल्द ही निजात मिल जायेगा | खासी कोई गंभीर बीमारी नहीं हे लेकिन अगर इसे नजर अंदाज किया जाये तो ये गंभीर व्याधि भी बन सकती हे | खासी की दवाई बनाने का देसी तरीका जाने

खासी  होने का कारण ?

खासी मौसमी बीमारी हे ,ज्यादातर खासी सर्दी या गले में इंफेक्शन से होती हे और ये इंफेक्शन मौसमी होता हे सर्दी और गर्मी के उतार चढ़ाव के समय या सर्दियों में अधिक खासी का संक्रमण होने की सम्भावना रहती हे | जब गाला किसी बहरी जीवाणु या रोगाणु से प्रभावित होता हे तो खासी चलती हे | खासी की दवाई बनाने का देसी तरीका जाने

khasi ki dawa खासी के लक्षण

जब खासी चलती हे तो गले में तेज खराश सी महसूस होती हे और | गले में सूजन सी रहती हे | कुछ खाने में परेशानी होती हे | बहुत दिनों से खासी होने पर शरीर का वजन काम होने लगता हे ऐसी िस्थति में आपको डॉक्टर से चकेउप करना चाहिए क्योकि दो हफ्तों से अधिक खासी टीबी भी हो सकती हे खासी की दवाई बनाने का देसी तरीका जाने

खासी हे प्रकार

मुख्यतह खासी दो प्रकार की होती हे | सुखी खासी और बलगम वाली खासी सुखी खासी में खासी लगातार चलती रहती हे ,और रोगी परेशान हो जाता हे | चेहरा लाल रहता हे | और शरीर का भार कम होता जाता हे | बलगम वाली खासी में खासी के साथ बलगम आता हे | और ये ज्यादा समय  तक होने पर टीबी होने की सम्भावना रहती हे | ऐसा नहीं हे की बलगम वाली खासी टीबी ही हो ये | बेक्टेरिआ संक्रमण भी हो सकता हे | खासी की दवाई बनाने का देसी तरीका जाने

खासी की दवाई बनाने का देसी तरीका और सामग्री

खासी की दवाई बनाने का देसी जानकारी

में आपको इस पोस्ट में खासी के इलाज में काम आने वाले पांच नुस्खे बताऊंगा |

1 . ‘मुलेठी ,कत्था और गोंद बाबुल प्रत्येक की दस ग्राम मात्रा लेकर कूट पीस कर कपडे में छान ले | अदरक के रस में दो तीन घंटे घोंट कर               चने के बराबर  गोलिया बनाकर एक एक गोली चूस ते रहे आपको सुखी खासी से जल्द लाभ मिल जायेगा |

2 .दस पंद्रह तुलसी के पत्ते और आठ दस काली मिर्च के  दाने की चाय बनाकर पिने से खासी में लाभ मिलता हे | और जुकाम खासी  जल्द          ठीक होता हे आप इसे रोजाना नियमित रूप सेवन कर सकते हे |

3 . मुलेठी काली मिर्च 10 – 10  ग्राम भूनकर पीस ले और 30 ग्राम पुराने गुड़ में मिला ले | मटर के दाने जैसी गोलिया बनाकर पानी के साथ ले खासी जड़ से ठीक हो जाएगी |

4.आंवले के छिलके को सूखा कर चूर्ण बनाकर और | बराबर मिश्री मिला ले | 6 ग्राम सुबह पानी से ले | पुरानी खासी ठीक हो जाएगी

5 . अदरक का रस व् शहद 10  10 ग्राम भूनकर पीस ले और 30 गग्राम करके चाटने से खासी ठीक हो जाती हे |

6 “. पतंजलि की दिव्ये स्वसारी दवा  “का नियमित सेवन भी आपको खासी से निजात दिलाता हे –

READ MORE ARTICLE

 बवासीर का इलाज

 गर्मी के मौसम में कैसे cool रहे

 

1 thought on “खासी की दवाई बनाने का देसी तरीका जाने”

Leave a Comment