ladka kaise hota hai/लड़का पैदा करने का आसान उपाय

ladka kaise hota hai : – जिन महिलाओं के लड़के नहीं हो रहे हे और वो लड़का पैदा करने के लिए तरह तरह के तरीके और उपाय कर कर के थक चुके हे, तो निराश मत होइए क्योंकि में आपको लड़का पैदा होने के बारे में जानकारी दूंगा, और आपको सच्चाई  से अवगत कराऊंगा, जैसे की लड़का कैसे होता हे और कब होता हे, पूरी पोस्ट को आखरी तक पढ़े।

बच्चे से माँ का दूध (स्तनपान) कैसे छुड़ाए

लड़का कैसे होता हे यह पूर्णतया कुदरत पर निर्भर करता हे , सभी  महिला के अंडे में दो गुणसूत्र  xx मौजूद होते है। वैसे ही पुरुष के शुक्राणु में भी दो xy गुणसूत्र मौजूद होते है।  सम्भोग के बाद गुणसूत्र के आपस में  मिलने से लड़का या लड़की पैदा होते हे। – ladka kaise hota hai

जैसे की यदि महिला का x गुणसूत्र पुरुष के x गुणसूत्र से मिलता हे तो लड़की पैदा होती हे। और यदि  महिला के x गुणसूत्र पुरुष के y गुणसूत्र से मिलने पर लड़का होता है। और मेडिकल साइंस के अनुसार लड़का और लड़की होने में पुरुष के गुणसूत्र ही जिम्मेदार होते हे। क्योंकि महिला में तो सिर्फ xx गुणसूत्र पाए जाते है।

लेकिन पुराने लोग आज भी मानते हे की गर्भ धारण से पहले और बाद में कुछ उपाय किये जाए तो सभी उपाए किये जा सकते हे और इस लेख में में आपको लड़का पैदा कैसे करे इसके उपायों के बारे में बताऊंगा।  इन पर भरोसा करना या नहीं करना आपके ऊपर निर्भर करता हे।  तो चलिए जानते हे की लड़का कैसे होता है  इसके बारे में। – ladka kaise hota hai

लड़का पैदा करने के लिए आपको गर्भधारण से पहले और गर्भधारण के बाद कुछ जरुरी उपाय करने होंगे।  जैसे की अपने खान पान पर विशेष ध्यान देना होगा, खाने में महिला व् पुरुष दोनों को कैलोरी और प्रोटीन से भरपूर खाना खाना चाहिए।

ladka kaise hota hai

लड़का पैदा हो इसके लिए महिला और पुरुष  को पुरे महीने में सिर्फ उसी दिन संभोग करना चाहिए जिस दिन महिला ओवुलेशन पीरियड (MC) में हो, महिला का मासिक धर्म शुरू होने हे एक दो दिन पहले, जब अण्डाणु निषेचन के लिए पूर्ण त्यार हो, तब पुरुष दुवारा संभोग के दौरान अपना वीर्ये महिला की योनि में अधिक गहराई तक छोड़ा जाना चाहिए। – ladka kaise hota hai

Gora bachcha Kaise Paida Hota Hai

bachcha kaise hota hai

लड़का होगा गर्भधारण से पहले करे यह उपाए।

पुराने लोग आज भी मानते हे की समय रहते जरुरी उपाय करने से महिला के होने वाला बच्चा लड़का (पुत्र) ही होगा। अक्सर अपने घर में बूढी महिलाओं गर्भवती महिला को यह कहते हुए सुना होगा की यह खाओगे या यह उपाय करोगे तो तुम्हे लड़का ही पैदा होगा।  तो चलिए जानते हे लड़का होने के लिए गर्भघारण से पहले क्या क्या उपाय करे।

  1. जब चन्द्रमा आधा निकला हो तब सम्भोग करने पर निश्चित लड़के का जन्म होता हे :- ऐसी पौराणिक मान्यता हे की जब चन्द्रमा आधा निकला हो तब सेक्स करने पर होने वाला बच्चा लड़का होने की सम्भावना होती हे।  यह कितना सच और झूट हे पता नहीं लेकिन इसकी पुष्टि नहीं हुई हे।
  2. एक महीने में सिर्फ एक बार ही सम्बन्ध बनाये जबकि महिला मासिक धर्म में हो, और वीर्ये को नष्ट न करे पूरा वीर्ये महिला के अंदर त्याद करे। ऐसा करने पर लड़का होने के चांस अधिक होते है।
  3. लड़का पैदा होने की दवा :- याद रह आजतक लड़का पैदा होने की कोई दवा नहीं बनी हे , लेकिन फिर भी कुछ लोग ओझा गुनी और नीम हकीमो के चक्कर में पड़ कर पुत्र होनी की दवा खाते रहते हे। जिससे उन्हें आगे चलकर गंभीर शारारिक तकलीफो का सामना करना पड़ता हे।
  4. महीने के शनिवार के दिन यदि महिला पीरियड (मासिक धर्म ) में हो तो उस दिन सेक्स करने से होने वाला बच्चा लड़का ही पैदा होता हे ऐसा कहा जाता हे।
  5. महीने के विषम दिन जैसे 1 , 3 , 5 , 7 , 9 …………वे दिनों में यदि महिला के पीरियड आते हे, तो उस समय पुरुष से सेक्स करने पर लड़का  पैदा होने की सम्भावना ज्यादा होती हे ऐसा भी माना जाता हे , लेकिन इस की कोई वैज्ञानिक पुष्टि नहीं हुई हे , इसे  करना या ना करना आपके ऊपर हे
  6. ओवुलेशन पीरियड महिला के अंडे बनने से 24 घंटे पहले और 12 बाद महिला से सेक्स करने पर लड़का होने के चांस अधिक होते हे।
  7. लड़का होने के लिए सही सेक्स पोजीशन :- जी है एक मान्यता के अनुसार लड़की यानि महिला के साथ सम्भोग करते समय सही सेक्स पोजीशन होने से बच्चा लड़का होता हे।  इसमें डॉगी स्टाइल से और महिला को ऊपर बिठाकर करने से वीर्ये ज्यादा अंदर की और जाता हे।  जो लड़का पैदा करने में सहायक हे।  यह जूट हे या सच पुष्टि नहीं हे।

लड़का होगा यदि गर्भधारण के बाद यह उपाय करें।

यदि आपको होने वाला बच्चा लड़का चाहिए तो गर्भवस्था के दौरान शुरूआती महीनो में कुछ जरुरी उपाय किये जाये तो होने वाला बच्चा लड़का होने की सम्भावना बढ़ जाती हे।  यह उपाय हे आपके खान पान की आदतों पर जैसे की।

  1. गर्भवस्था में महिला को क्षारीय गुणों वाली चीजे खाने  पर जोर देना चाहिए और अम्लीयता वाली चीजे खाने से बचाना चाहिए। क्षारीय चीजे – पालक , गाजर , पत्तेदार सब्जी , मूली , प्याज , लसन , अरहर दाल आदि। एल्कलाइन गुणों वाला भोज्य पदार्थ तथा पोटेशियम युक्त आहार पुरुष शुक्राणुओं को स्वस्थ रखने में काफी आवश्यक होता है। इस प्रकार का भोजन करने से गर्भ में पुत्र प्राप्ति की संभावना काफी प्रबल हो जाती है।
  2. कोफ़ी का सेवन करने से लड़का पैदा होता हे , इसकी वैज्ञानिक पुष्टि नहीं हुई हे लेकिन  इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट तत्व क्रोमोसोम को एक्टिव बनाते है और xy गुणसूत्रों को मिलने से प्रेरित करते हे।  यह केवल एक मिथक हे।  लड़का पैदा हो इस बात से
  3. मछली का सेवन गर्भधारण के शुरुआती महीनो में करने से महिला और पुरुष में ज़िंक और पोटासियम की कमी को दूर करता हे। जोकि लड़का पैदा होने में सहायक होता हे।  वैसे तो महिला और पुरुष को सेक्स से पहल मछली को अधिक खाना चाहिए।  ताकि लड़का पैदा हो सके।

लड़का पैदा होगा जब यह लक्षण दिखाई दे तो।

पुराने लोग जो की कुछ मिथक पर आज भी विश्वास करते हे , महिला के पेट में पल रहा बच्चा लड़का हे या लड़की इसका आंकलन कुछ लक्षणों से लगाते हे , बूढी महिलाये घर में अक्सर यह बाते करती हे।  की गर्भवती के लड़का होगा या लड़की इनमे से कुछ लक्षण में निचे बता रहा हूँ।

  1. यदि महिला को गर्भावस्था में ज्यादा मीठा खाने की इच्छा होती हे तो , कुछ लोग इसे लड़का होने से जोड़ते हे।  वैसे तो यह हार्मोन्स के बदलाव से होता हे और कुछ शारारिक जरुरत के हिसाब से महिलाओ में खाने के स्वभाव में अंतर देखा जाता हे।  लेकिन इसे लड़का होने का लक्षण कहा जाता हे।
  2. पेट का आकर – यदि गर्भवती का पेट चौड़ाई में कम  और लम्बाई में निचे की और झुका हुआ बढ़ने लगता हे तो। इसे पेट में लड़का होने के लक्षण से जोड़ा जाता हे।  ऐसा कहा जाता हे की इसके पेट में लड़का हे।
  3. महिला का ज्यादा सुन्दर दिखना – यदि गर्भवती महिला ज्यादा सुन्दर नजर आने लगती हे तो एक लक्षण को महिला के लड़का होने से जोड़ा  जाता हे , जबकि यदि पेट में लड़की हे तो महिला की सुंदरता में कमी आती हे।
  4. दिल की धड़कन – यदि पेट में लड़का होता हे तो शुरू के 3 महीनो में बच्चे की धड़कन 140 से कम होगी।  और यदि पेट में लड़की हे तो यह 140 से ज्यादा होगी लेकिन चौथे महीने के बाद से यह 170 से ज्यादा हो जाती हे।
  5. यदि महिला के पेरो में जलन होती हे तो लड़का होने के लक्षण माना जाता हे
  6. यदि महिला के बाल सुन्दर और तेजी से बढ़ रहे तो तो इसे भी लड़का होने से जोड़ा जाता हे।  सर दर्द होना होने को लड़का होने से जोड़ते हे
  7. महिला के शरीर पर चर्बी बढ़ रही हे वो भी कूल्हों और जांखो पर पीछे की तरफ ज्यादा चर्बी का जमाव हो रहा हे तो , यह लड़का पैदा होने के लक्षण होते हे।

नोट – यह जानकारी किसी  दवा या उपायों के इस्तमाल की सलाह नहीं देती हे , कोई भी दवा लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर के। साथ ही हम किसी लिंग भेद और लिंग परिक्षण को प्रोत्साहित नहीं करते हे।  यह लेख आपको सही जानकारी देने के लिए हे।

READ MORE ARTICLES

bachchon ki Najar Kaise utare

hindu bachcho ke naam /हिन्दू बच्चों के नाम

1 thought on “ladka kaise hota hai”

Leave a Comment